The w3-animate-fading class animates an element in and out (takes about 5 seconds).

Breaking

रविवार, 23 फ़रवरी 2020

पढ़ें लिखे से कौन काम! भैंस चराम त मट्ठा खाम!! बख्तियारपुर विधायक रणविजय सिंह

NDA कार्यकर्ता सम्मानित सम्मेलन समारोह bakhtiyarpur
NDA कार्यकर्ता सम्मानित सम्मेलन समारोह
Bakhtiyarpur :- बख्तियारपुर प्रखंड के डोमा गाँव में NDA कार्यकर्ता सम्मानित सम्मेलन समारोह सभा का आयोजन बीते दिन रविवार को शाम में कुन्दन पांडे की ओर से किया गया था। जिसमें कई कार्यकर्ताओं को अंगवस्त्र भेंटकर सम्मानित किया गया। इस सभा में मुख्य अतिथि के रूप में एमएलसी जदयू नेता नीरज कुमार के साथ स्थानीय विधायक रणविजय सिंह मौजूद थे। कार्यक्रम की अध्यक्षता जदयू बाढ़ संगठन जिला के पूर्व अध्यक्ष अरुण कुमार के द्वारा किया गया। और मंच का संचालन जदयू प्रखंड अध्यक्ष अवधेश सिंह के द्वारा किया गया।



सभा को संबोधित करते हुए एमएलसी नीरज कुमार ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि राजनीतिक कोई नौकरी या जमीनदारी नही है जो कल बाप दादा का था, वो आज मेरा होगा। इस तरह की राजनीति अब नही चलेगा। अनुकम्पा के आधार पर प्रतिभावान लोगों को दरकिनार करके विरासत की राजनीति जो करना चाहता है उसका लगाम पकड़ने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि राजनीति में ऐसे लोग आ गए हैं जो दलितों को अपने फायदे के लिए इस्तेमाल करने में लगें है। दलित को कर्जा दिलवाकर बस ख़रीदबा दिया आव उसपर राजा नीयन बैठकर सवारी करेगा। ई कौन सा यात्रा है जिसमे समाज के गरीब लोगों का शोषण हो रहा हो ?

बख्तियारपुर विधायक रणविजय सिंह ने विपक्ष के द्वारा कही गई पुरानी बातों को याद दिलाते हुए कहा कि जब हम उपमुखिया थे तो उस समय कहा जाता था कि चरवाहा विद्यालय खोलबायेंगे। तब हमको लगा कि चरवाहा विद्यालय से विकास कैसे होगा। लेकिन आज मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बख्तियारपुर में इंजीनियरिंग कॉलेज बनबा दिया है। अब हमारे बच्चे अपने इलाके में ही रहकर उच्य शिक्षा ग्रहण कर सकेगा। यादव समाज के लोगों के बच्चे भैंस चराते थे। उन्हें पढ़ाई लिखाई से कोई मतलब नही था। वो लोग कहते थे कि "पढ़े लिखें से कौन काम, भैंस चराम त मट्ठा खाम" लेकिन जब से नरेन्द्र मोदी की सरकार आई है तब से यादव समाज मे भी बदलाव आने लगा है।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

thanks for visit