The w3-animate-fading class animates an element in and out (takes about 5 seconds).

Breaking

बुधवार, 22 जनवरी 2020

CCTV कैमरा, जैमर और वेबकास्टिंग की निगरानी में होगा मैट्रिक, इंटर जैसी कई परीक्षाऐं...

पटना , 22 जनवरी 2020 : - 1 अणे मार्ग स्थित संकल्प में मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार के समक्ष बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के अध्यक्ष श्री आनंद किशोर ने पटना में 25 , 000 की क्षमता वाले परीक्षा परिसर के निर्माण के संबंध में प्रस्तुतीकरण दिया । श्री आनंद किशोर ने बताया कि बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा हर वर्ष मैट्रिक परीक्षा , इन्टरमीडिएट परीक्षा , डिप्लोमा इन एजुकेशन परीक्षा , सिमुलतला आवासीय विद्यालय प्रवेश परीक्षा , औद्योगिक प्रशिक्षण उच्च माध्यमिक स्तरीय ( हिन्दी एवं अंग्रेजी ) परीक्षा , शिक्षक पात्रता परीक्षा सहित अनेक प्रकार की परीक्षायें आयोजित की जाती हैं । इसके अतिरिक्त बिहार लोक सेवा आयोग , कर्मचारी चयन आयोग , बिहार तकनीकी सेवा आयोग , बिहार संयुक्त प्रवेश प्रतियोगिता पर्षद , यू०पी०एस०सी० , बैंकिंग सर्विस कमीशन की परीक्षा के साथ - साथ विभिन्न विश्वविद्यालयों एवं शिक्षण संस्थानों द्वारा पटना में परीक्षाएं आयोजित की जाती हैं । 

इन परीक्षाओं में काफी बड़ी संख्या में परीक्षार्थी भाग लेते हैं , जिसके लिए पटना जिले के कई कॉलेजों तथा स्कूलों में परीक्षा केन्द्र बनाने पड़ते हैं । परीक्षा केन्द्र वाले शिक्षण संस्थानों में परीक्षा का आयोजन होने से शिक्षण एवं अन्य कार्य प्रभावित होता है । साथ ही इन परीक्षाओं के आयोजन में कई प्रकार की समस्याओं का सामना करना पड़ता है । शांतिपूर्ण एवं कदाचार मुक्त परीक्षा कराने के लिए सभी परीक्षा केन्द्रों पर विधि व्यवस्था के संधारण हेतु बड़ी संख्या में दंडाधिकारियों एवं पुलिस बल की प्रतिनियुक्ति , परीक्षा केन्द्रों पर ससमय कोषागार / बैंक से गोपनीय प्रश्न पत्रों को उपलब्ध कराने हेतु वाहनों की व्यवस्था , परीक्षा समाप्ति के पश्चात उत्तर पुस्तिकाओं को सभी परीक्षा केन्द्रों से प्राप्त कर बज्रगृह तक सुरक्षित पहुँचाना एवं उनका रखरखाव , काफी अधिक संख्या में केन्द्र होने से कभी - कभी प्रश्न पत्रों की गोपनीयता भंग होने के साथ - साथ उसके वायरल होने की आशंका आदि जैसे बिन्दुओं पर सावधानियां बरतनी पड़ती हैं । 

इस परिसर में ऑफलाइन एवं ऑनलाइन मोड में परीक्षा आयोजित करने की व्यवस्था होगी । ऑफलाइन परीक्षा हेतु 44 हॉल में 20 , 680 परीक्षार्थियों की क्षमता तथा ऑनलाइन परीक्षा हेतु कुल 20 हॉल में 4 , 400 परीक्षार्थियों के बैठने की व्यवस्था यानी कुल 25 हजार 80 परीक्षार्थियों के एक साथ बैठने की व्यवस्था होगी । पूरे परिसर , भवन , हॉल में सी०सी०टीवी और जैमर की व्यवस्था होगी । बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के अध्यक्ष ने बताया कि सभी भवनों के सभी हॉल में वेबकास्टिंग की सुबिधा तथा परीक्षाओं का अनश्रवण मोबाइल फोन के माध्यम से भी करने की व्यवस्था होगी । प्रत्येक भवन के उपर सोलर पैनल की व्यवस्था एवं एस्केलेटर की व्यवस्था होगी । सुरक्षा के दृष्टिकाण से 52 सिपाहियों के रहने हेतु एक बैरक की भी सुविधा होगी । इसके साथ ही सपोर्टिंग स्टाफ के लिये भी आवासन की व्यवस्था रहेगी । गाँधी सेतु से लगभग 100 मीटर की दूरी पर 6 . 79 एकड़ में यह ओल्ड बाइपास के पास निर्मित होगा । 


इसके लिए 5 . 78 एकड़ जमीन बी०एस०ई०बी० को ट्रांसफर हो चुका है । शेष 1 . 11 एकड़ जमीन ट्रांसफर के लिए बी०एस०ई०बी० ने पटना जिलाधिकारी को प्रस्ताव भेजा है । प्रस्तुतीकरण के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि जब साईट एक ही है और जमीन गैरमजरुआ है तो उसे ट्रांसफर करने में कोई दिक्कत नहीं होगी । उन्होंने कहा कि शेष 1 . 11 एकड़ जमीन में तालाब है उसे अतिशीघ्र ट्रांसफर कराकर तालाब का सौन्दर्गीकरण एवं उसके चारों तरफ पेड़ लगाने की व्यवस्था सुनिश्चित करें ताकि परिसर हरा - भरा रहे । इसके अलावा वहां घूमने के लिए पाथवे भी होना चाहिए । उन्होंने कहा कि परीक्षा परिसर की चहारदीवारी इस प्रकार से बने कि बाहर से परीक्षा में गड़बड़ी करने की कोई गुंजाइश नहीं रहे । मुख्यमंत्री ने हर जिले की आबादी को ध्यान में रखते हुए ऐसे परीक्षा केन्द्र बनाने की बात कही ताकि कदाचार मुक्त एवं पारदर्शी तरीके से वर्ष में कभी भी परीक्षा का आयोजन किया जा सके 


उन्होंने कहा कि मेट्रो का एलाईनमेंट और बस स्टैंड को ध्यान में रखते हुए पथ निर्माण विभाग और भवन निर्माण विभाग के अधिकारी स्वयं जाकर स्थल का मुआयना कर यह सुनिश्चित कर लें कि परीक्षा परिसर का निर्माण बेहतर ढंग से हो सके । अतिवृष्टि में भी परीक्षा परिसर प्रभावित न हो , इसका ध्यान विशेष रूप से रखना होगा । इस अवसर पर शिक्षा मंत्री श्री कृष्णनंदन प्रसाद वर्मा , विकास आयुक्त श्री अरुण कुमार सिंह , अपर मुख्य सचिव शिक्षा श्री आर0के0 महाजन , मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव श्री चंचल कुमार , मुख्यमंत्री के सचिव श्री मनीष कुमार वर्मा , मुख्यमंत्री के सचिव श्री अनुपम कुमार , बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के अध्यक्ष श्री आनंद किशोर सहित बिहार विद्यालय परीक्षा समिति से जुड़े अन्य अधिकारी उपस्थित थे  ।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

thanks for visit