Breaking

शनिवार, 26 अक्तूबर 2019

आपके किचन में बहुत जल्द आने बाला है लाल कोहिमा लाल भिन्डी...

लाल कोहिमा
लाल भिन्डी
अब आपके रसोई घर में बहुत जल्द आने बाला है लाल भिन्डी। जिसे 23 साल की मेहनत के बाद IIVR (indian institute of vegetable research) भारतीय सब्जी अनुसंधान संस्थान के वैज्ञानिकों ने तैयार किया है। जिसका नाम काशी लालिमा रखा गया है। वैज्ञानिकों की इस सफलता के बाद बहुत जल्द आपके रसोई घर में भी लाल भिन्डी देखने को मिलेगा। हलांकि पश्चिमी देशों में इस लाल भिन्डी की खेती बहुत पहले से ही कि जा रही है। जिसकी कीमत करीब 200 से 500 रू किलो तक है। लेकिन भारत में इसकी उपज होने से धीरे धीरे इसकी कीमत में इजाफा होगा। काशी लालिमा लाल भिन्डी की खेती बनारस में कि गई है लेकिन अभी इसका उपज हरी भिन्डी की अपेक्षा कम हो रही है। वैज्ञानिकों के अनुसार लाल भिन्डी में शोध के बाद उपज बढ़ जाएगा और हरी भिन्डी की तरह ही उपज होने लगेगा। 


लाल भिन्डी (काशी लालिमा) की बिशेषतायें
The characteristics of red lady finger (Kashi Lalima)

लाल भिन्डी बनाबट और साइज में हरी भिन्डी की तरह ही है। लेकिन दिखने में यह लाल और हल्का बैगनी लगता है। काशी लालिमा लाल भिन्डी में एन्टी ऑक्सीडेंट, आयरन, कैल्सियम जैसे तमाम कई गुण भरपूर मात्रा में उपलब्ध है। वैज्ञानिकों की माने तो इसे सब्जी बनाकर खाने के अलावा सलाद की तरह भी खा सकते हैं। वही काशी लालिमा लाल भिन्डी गर्भवती महिलाओं के लिए काफी लाभदायक है। इसमें ऐसे तत्व पाये जाते हैं जिससे पेट में पल रहे बच्चों का मानसिक विकास में काफी मदद मिलेगा। अब तक भारत के किसान सिर्फ हरी भिन्डी का ही खेती कर रहे थे लेकिन काशी लालिमा लाल भिन्डी के आने के बाद भारतीय किसान लाल भिन्डी की खेती भी करने लगेंगे। जिसका बीज इस साल के अंत में दिसम्बर तक किसानों के लिए उपलब्ध करा दिया जाएगा। जिसकी उपज होने के बाद बहुत जल्द ही यह आपके रसोईघर तक आने बाला है।
lal bhindi
काशी लालिमा

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

thanks for visit