Breaking

बुधवार, 25 सितंबर 2019

गंगा नदी का जल स्तर बढ़ने से दियारा क्षेत्र के लोगों पर टूट पड़ा है मुसीबतों का पहाड़...

सीढ़ी घाट बख्तियारपुर
सीढ़ी घाट बख्तियारपुर
इस मौसम में गंगा नदी का जल स्तर बढ़ जाना आम बात है। लेकिन गंगा नदी के जल स्तर बढ़ने से दियारा क्षेत्र के लोगों पर मुसीबतों का पहाड़ टूट पड़ा है। गंगा नदी के जल स्तर बढ़ने से दियारा क्षेत्र के लोगों को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। गंगा नदी का पानी निचले हिस्से में रह रहे लोगों के घरों में घुस गया है। जिससे इन लोगों को अपने घरों में रहने पर काफी कठिनाइयां हो रहा है। अपने घरों का जरूरी सामान लेकर वो सुरक्षित जगहों की तलाश में इधर उधर भटक रहे हैं। गंगा नदी का जल स्तर धीरे धीरे दिन प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है। अनुमान लगाया जा रहा है कि यदि हप्ते भर जल स्तर बढ़ने का क्रम यू ही चलता रहा तो दियारा क्षेत्र पूरी तरह से गंगा नदी में समा जाएगा। और इन लोगों का सबकुछ तवाह हो जायेगा। वही कुछ परिवार की महिलाएं सुरक्षित स्थान के लिए अपने रिश्तेदारों के यहाँ रहने चली गई है। और परिवार के पुरूष वर्ग अपने मवेशियों को लेकर सुरक्षित स्थानों पर डेरा लगाये हुए गंगा नदी का जल स्तर कम होने का इंतजार कर रहे हैं।

पटना और हाथीदह पुल पर गंगा नदी का जल स्तर खतरे के निशान से ऊपर बह रहा है। जल स्तर बढ़ने से दियारा क्षेत्र के खेतों में पानी भर आया है जिससे सब्जियां और फसल बर्बाद हो गए हैं। सब्जियां और फसल बर्बाद होने से बाजारों में सब्जियों के दाम में बढ़ोतरी हुआ है। वही सब्जियों के थोक विक्रेता औने पौने दामों में सब्जियों को खरीदकर महंगे भाव में बेच रहे हैं। सरकार के अधिकारी आये दिन गंगा नदी के जल स्तर का मुआयना करने निकटतीय घाटों पर आते रहते है। वही बख्तियारपुर के सीढ़ी घाट में NDRF की टीम के साथ तीन मोटरवोट तैनात किया गया है। जिससे मुशीबतों में फसे लोगो को बचाया जा सके। तैनात किये गए NDRF की टीम मोटरवोट में बैठकर दियारा क्षेत्र के लोगों का निरीक्षण करते रहता है। बख्तियारपुर के सीढ़ी घाट में बने घाटों की सभी सीढ़ीया गंगा नदी में डूब चुका है। बस आखरी सीढ़ी बचा हुआ है। जिसपर गंगा नदी का पानी लहरों के साथ आता है और बापस चला जाता है। जिसे देखने के लिए हर समय लोगों का भीड़ जमा रहता है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

thanks for visit