Breaking

सोमवार, 26 अगस्त 2019

बिहार में होगा चक्का जाम अनंत सिंह के समर्थन में सड़क पर उतरे भूमिहार ब्राह्मण एकता मंच के राष्ट्रीय अध्यक्ष आशुतोष कुमार...

 Many parties on the road in support of Anant Singh
अनंत सिंह के समर्थन में सड़क पर उतरे कई सारी पार्टियाँ

बिहार में होगा चक्का जाम अनंत सिंह के समर्थन में सड़क पर उतरे भूमिहार ब्राह्मण एकता मंच के राष्ट्रीय अध्यक्ष आशुतोष कुमार...

डिजिटल इंडिया के इस दौड़ में बिहार ही नही बल्कि पूरे हिन्दुस्तान की जनता जागरूक हो चुकी है। अब खबरों को लोगों तक पहुचाने के लिए टीबी चैनल या न्यूज एजेंसी की जरूरत नही पड़ता है। पहले टीबी चैनलों पर जो दिखाया जाता था चाहे वह खबर सही हो या गलत वही खबर आम जनता तक पहुंच पाता था लेकिन अब ऐसा बिल्कुल भी नही है। अब सोसल मीडिया के माध्यम से आम जनता तक हर खबर बहुत आसानी से पहुँच जाता है। और इसी सोसल मीडिया की बजह से आम जनता तक हर पल की खबर पहुँच रहा है। जिसकी सच्चाई जनता को भी समझ में आ रहा है।

हाल में मोकामा विधायक अनंत सिंह को लेकर जिस तरह से पटना पुलिस चुस्त दुरुस्त दिख रही है। और एक विधायक को गिरफ्तार करने के लिए एक के बाद एक कई गलतियाँ कर चुकी है। इसको लेकर पटना पुलिस पर कई सारे सवाल उठ रहे है। अगर इतनी मुस्तैदी और फुर्ती से पटना पुलिस आम जनता के समस्याओं को सुलझाने में लगाती तो बिहार में अमन और शांति कायम रहता। लेकिन इसके बाबजूद भी मोकामा विधायक अनंत सिंह पटना पुलिस के हाथ नही आये और पटना पुलिस हाथ मलती रह गई। वही  पटना पुलिस के इस रबैये से कहीं न कहीं जनता समझ चुकी है और अनंत सिंह के समर्थन में कई सारी पार्टियाँ सड़क पर उतर आई है।

इसको लेकर भूमिहार ब्राह्मण एकता मंच के राष्ट्रीय अध्यक्ष आशुतोष कुमार ने मिडिया से बात करते हुए कहा कि बिहार सरकार ने जिन अधिकारियों को जाँच की जिम्मेवारी सौंपी है। उस अधिकारी पर पहले भी लोकसभा चुनाव में पक्षपात करने और बदले की भावना से कार्यवाही करने का आरोप लग चुका है। चुनाव आयोग ने संज्ञान लेते हुए उस अधिकारी को स्थानन्तरण भी किया था। लेकिन चुनाव के बाद उस अधिकारी को फिर से यहाँ लाया जाता है। और जब वह दिल्ली जाती है तो सांसद की गाड़ी से कोर्ट पहुँचती है। तो इस सबको लेकर जनता समझ चुकी है कि बदले की भावना से करवाई की जा रही है। हमारी संगठन उनके परिजनों की मांग है कि इसकी जाँच सी बी आई से कराई जाए। अगर 30 अगस्त तक हमारी माँग पूरी नही की जाएगी तो हम निवेदन नही अल्टीमेटम दे रहे है सरकार को। पटना के श्रीकृष्ण मेमोरियल हॉल में इस संगठन का द्वितीय स्थापना दिवस मनाया जाएगा उसमे एक तारीख निश्चित किया जाएगा और उस तारीख के अनुसार पूरे बिहार में चक्का जाम कर दिया जाएगा, बिहार बन्द कर दिया जाएगा।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

thanks for visit