The w3-animate-fading class animates an element in and out (takes about 5 seconds).

Breaking

मंगलवार, 23 जुलाई 2019

खतरनाक बन गया ग्यासपुर गंगा घाट। फिर से हुआ वही हादसा मौसी के दशकर्म में सामिल होने आया युवक की डूबने से मौत


खतरनाक बन गया ग्यासपुर गंगा घाट। फिर से हुआ वही हादसा मौसी के दशकर्म में सामिल होने आया युवक की डूबने से मौत


ग्यासपुर गंगा घाट पर गंगा नदी में  नहाने गए एक युवक की डूबने से मौत हो गई। युवक की पहचान खुसरूपुर निवासी राजकुमार साव का पुत्र गुड्डू कुमार के रूप में की गई है। जिसका उम्र 35 बर्ष बताया जा रहा है। गुड्डू अपने मौसी के घर अलीपुर गाँव आया हुआ था। वह अपने परिजनों के साथ मौसी के दशकर्म में सामिल होने के लिए ग्यासपुर घाट गया। बाल मुंडवाने के बाद वह गंगा नदी में नहाने गया जहाँ गहरे पानी मे जाने से उसकी डूबने से मौत हो गई।

आपको बताते चले कि सालिमपुर थाना क्षेत्र के अन्तर्गत दो दिन पहले भी इसी तरह का हादसा यहाँ ग्यासपुर घाट पर हुआ था। जिसमें सम्मतपुर निवासी एक युवक की मौत हो गई थी। उसके बाद पुलिस और गुस्साए ग्रामीणों के साथ झड़प भी हुआ था। जिसमे दो पुलिस बाले घायल हो गए थे।उसके बाद दुबारा से यह हादसा हो गया।

प्रसासन को चाहिए कि ऐसी खतरनाक घाटों को चिन्हित करके वहाँ नहाने बाले लोगों को इसकी जानकारी दें और उन्हें गहरे पानी मे जाने से रोकें। साथ ही ऐसी खतरनाक घाटों पर गोताखोर की भी तैनाती होनी चाहिए।

गंगा नदी में जल स्तर अभी बढ़ा हुआ है। आगे और बढ़ने का अनुमान लगाया जा रहा है। जल स्तर बढ़ने से घाटों की मिट्टी काटकर नदी में चला जाता है। जिसके कारण घाट के किनारे ही पानी गहरा हो जाता है। जिसका अंदाज बाहरी लोग नही लगा पाते है। और अनजाने में गहरे पानी मे जाने से डूब जाते है।

बिहार पटना की ओर से एक छोटी सी अपील है कि गंगा नदी के घाटों पर बाहरी लोगों को देखते ही उन्हें गहरे पानी मे जाने से रोकें सायद ऐसा करके आप कई जिन्दगियां बचा सकते है।
यहाँ देखिये सूर्यमंदिर घाट करौता में स्नान करने गए दो युवक की डूबने से मौत

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

thanks for visit